UNCATEGORIZED

पानी के बिना पौधे सूख जाते हैं, ठीक इसी तरह रिश्तों में प्रेम नहीं होगा तो रिश्ते ज्यादा दिनों तक टिक नहीं पाएंगे ;श्री महंत रवींद्र पुरी

रिश्तों को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि मिलना-जुलना होता रहे। आपसी प्रेम बना रहेगा तो रिश्ते भी जीवंत रहेंगे। अगर मिलना-जुलना बंद हो जाएगा तो प्रेम खत्म होगा और प्रेम नहीं होगा तो रिश्ते भी ज्यादा दिन टिक नहीं पाएंगे। घर-परिवार हो या समाज, कभी भी किसी के लिए गलत नहीं सोचना चाहिए, अगर हम दूसरों के रास्ते में कांटे बिछाते हैं तो हमारे हाथों में भी कांटे जरूर चुभते हैं। इसलिए अपने काम पर ध्यान दें और दूसरों से जलन की भावना न रखें।

Close