UNCATEGORIZED

अगर हम इच्छानुसार तनावयुक्त और तनावमुक्त होने के तरीके सीख लें:स्वामी राम भजन वन

अच्छे और बुरे तनाव को ऐसे समझ सकते हैं
अगर हम इच्छानुसार तनावयुक्त और तनावमुक्त होने के तरीके सीख लें तो हम उस तनाव का सदुपयोग कर सकेंगे, जो हमारे लक्ष्यों की पूर्ति में सहयोग देता है और उस तनाव से दूर रह सकेंगे जो अनावश्यक दबाव डालता है। तनावपूर्ण बातें बंद कर देंगे तो उन विचारों को ही खत्म कर देंगे, जो दबाव डालते हैं। शांत रहकर इसे बढ़ावा दें।

बदलाव के लिए सोच का दायरा बढ़ाए
हम आज जो हैं उसमें रचनात्मक बदलाव लाकर जीवन के उन क्षेत्रों में सफलता प्राप्त कर सकते हैं जो कमजोर रह गए हैं, लेकिन जिनमें सफल होने की इच्छा हमारे मन में है। अधिकांश लोग नहीं जानते कि बदलाव कैसे किया जाए। वो अपनी कमियों को ढांकने की कोशिश करते हैं, जबकि वो अपने मस्तिष्क का दायरा बढ़ा सकते हैं।

Close