UNCATEGORIZED

जहां अपेक्षा नहीं होती है वहां डर भी नहीं होता :स्वामी राम भजन वन

1. जो अपने जुनून और चाहतों पर राज करता है, वह राजा से भी बढ़कर है। 2. मनुष्य का दिल देखकर ही उसकी असल दौलत माप सकते हैं, जमीन देखकर नहीं। 3. जहां अपेक्षा नहीं होती, वहां डर भी नहीं होता। 4. अकेलापन सबसे श्रेष्ठ साथी है। 5. जिस तरह सुबह के साथ दिन की शुरुआत होती है, वैसे ही मनुष्य जीवन की शुरुआत बचपन के साथ होती है। 6. झूठे आरोप लगाने वालों के लिए सबसे अच्छा जवाब होता है, मौन। 7. मुझे जानने, बोलने और मुक्त रूप से तर्क करने की आजादी दीजिए। 8. मौत वह सुनहरी चाबी है, जिससे शाश्वतता के महल का द्वार खुलता है। 9. वो भी गुलामी करते हैं, जो केवल खड़े रहते हैं और इंतजार करते हैं। 10. जिस तरह सुबह दिन की झलक दिखाती है उसी तरह बचपन आदमी की झलक दिखाता है।

Close